Posts

Novel Coronavirus (COVID-19) Situation

India Lockdown: लॉकडाउन क्या हैं, इसके चलते क्या बंद होगा, क्या हो सकता है ?

लॉकडाउन में किसी भी नागरिक को गैर जरूरी तौर पर घर से बाहर निकलने की अनुमति नहीं है। इस दौरान तमाम नागरिकों के मन में बहुत से सवाल होंगे,

आखिर क्या है लॉकडाउन 

  • लॉकडाउन शब्द का इस्तेमाल पश्चिमी देश कई बार आपात स्थिति में कर चुके हैं। 
  • भारत में लोगों को घरों में रखने के लिए कर्फ्यू या धारा 144 जैसे कानून का सहारा लेते रहे हैं। 
  • मगर लॉकडाउन का इस्तेमाल भारत में पहली बार हो रहा है। इसका आसान मतलब है की जरूरी सेवाओ को छोड़कर सब कुछ बंद रहेगा। 
  • इस दौरान सिर्फ जरूरी या आपात स्थिति होने पर ही हमें घर से निकलने की अनुमति रहेगी। 
  • इस दौरान सभी व्यापारिक प्रतिष्ठान, पब्लिक ट्रांसपोर्ट सब बंद रहेंगे। हालांकि, जरूरी सेवाएं बहाल रहेंगी।

क्या पहले भी हुआ है लॉकडाउन

  • अमेरिका ने 9/11 आतंकी हमले के बाद तीन दिन के लिए पहली बार लॉकडाउन किया था। 
  • इसके बाद 2013 में बॉस्टन और 2015 में पेरिस हमले के बाद ब्रुसेल्स लॉकडाउन किया गया था। 

क्या-क्या सेवाएं बंद रहेंगी 

  • किसी भी सार्वजनिक परिवहन सेवा को अनुमति नहीं होगी। इसमें निजी बसें, टैक्सी, ऑटो रिक्शा, रिक्शा, ई-रिक्शा सब बंद रहेंगे। 
  • दिल्ली में डीटीसी की 25 प्रतिशत बसें चलेंगी। 
  • सभी बाजार, व्यापारिक प्रतिष्ठान, फैक्ट्री, वर्कशॉप, ऑफिस, गोदाम, साप्ताहिक बाजार ये सब बंद रहेंगे।
  • इंटरस्टेट बसें, ट्रेन और मेट्रो सेवाएं निलंबित रहेंगी।
  • सभी घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ानें रद्द रहेंगी।
  • किसी तरह का निर्माण कार्य फिलहाल बंद रहेगा।
  • सभी तरह के धार्मिक स्थान बंद रहेंगे। 

लॉकडाउन के दौरान क्या-क्या खुला रहेगा 

  • दूध, सब्जी और दवा की दुकानें । 
  • अस्पताल और क्लीनिक । 
  • राशन की दुकानें । 
  • किसी बेहद जरूरी काम के लिए भी प्रशासन की ओर से छूट मिल सकती है।
  • बैंकों के कैश से जुड़ी सुविधाएं जारी रहेंगी।
  • टेलिकॉम, इंटरनेट और डाक सेवा जारी रहेंगी।

किन लोगों को छूट मिलेगी

  • पुलिस का काम जारी रहेगा। साथ ही कानून-व्यवस्था को लागू कराने वाले विभाग भी काम करेंगे। 
  • स्वास्थ्यकर्मियों और अग्निशमन विभाग के कर्मचारियों का काम भी जारी रहेगा। 
  • जेल विभाग और बिजली व पानी के दफ्तरों में भी काम जारी रहेगा। 
  • नगर निगम के साफ सफाई या कूड़ा उठाने जैसे काम भी चलते रहेंगे। इसके अलावा जेल विभाग के काम भी चलते रहेंगे। 
  • मीडियाकर्मियों को भी इस दौरान आने जाने की छूट होगी। 
Novel Coronavirus (COVID-19) Situation

Coronavirus Covid-19 in india

रविवार को जनता कर्फ्यू का करें पालन, सुबह 7 से 9 बजे तक घरों में रहेंः

परिवार में जो भी सीनियर सिटीजन (वृद्धजन) हैं। वे आने वाले कुछ सप्ताह तक घर से बाहर न निकलें। हो सकता है कि वर्तमान पीढ़ी पुरानी कुछ बातों से परिचित न हो। यह है जनता कर्फ्यू। यानी जनता के लिए, जनता द्वारा, खुद पर लगाया गया कर्फ्यू। 22 मार्च रविवार को सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक सभी देशवासियों को जनता कर्फ्यू का पालन करना चाहिए। इस जनता कर्फ्यू में :

1 कोई भी नागरिक घरों से बाहर न निकले।

2 न मोहल्ले में जाए, सोसाइटी में जाए। अपने घरों में रहे। जो आवश्यक सेवाओं से जुड़े हैं, उन्हें तो जाना ही होगा।

coronavirus (COVID-19) precautions update

चीन के कोरोना वायरस के कहर से मरने वालों की संख्या काफी बढ़ गई है. अब तक100 देशों में इसके संदिग्ध मामले सामने आ चुके हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन पहले ही इसे इमर्जेंसी घोषित कर चुका है.

भारत में भी अब तक इसके ताजा मामले सामने आ चुके हैं. दुनिया भर में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 1,00,000 के पार चली गयी है.

1. क्या है कोरोना वायरस? कोरोना वायरस (सीओवी) का संबंध वायरस के ऐसे परिवार से है, जिसके संक्रमण से जुकाम से लेकर सांस लेने में तकलीफ जैसी समस्या हो सकती है. इस वायरस को पहले कभी नहीं देखा गया है. इस वायरस का संक्रमण दिसंबर में चीन के वुहान में शुरू हुआ था. डब्लूएचओ के मुताबिक, बुखार, खांसी, सांस लेने में तकलीफ इसके लक्षण हैं. अब तक इस वायरस को फैलने से रोकने वाला कोई टीका नहीं बना है.

2. क्या हैं इस बीमारी के लक्षण? इसके संक्रमण के फलस्वरूप बुखार, जुकाम, सांस लेने में तकलीफ, नाक बहना और गले में खराश जैसी समस्या उत्पन्न होती हैं. यह वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है. इसलिए इसे लेकर बहुत सावधानी बरती जा रही है. यह वायरस दिसंबर में सबसे पहले चीन में पकड़ में आया था. इसके दूसरे देशों में पहुंच जाने की आशंका जताई जा रही है.

3. क्या हैं इससे बचाव के उपाय? स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने कोरोना वायरस से बचने के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं. इनके मुताबिक,

*हाथों को साबुन से धोना चाहिए.

अल्‍कोहल आधारित हैंड रब का इस्‍तेमाल,

खांसते और छीकते समय नाक और मुंह रूमाल या टिश्‍यू पेपर से ढककर रखें.

जिन व्‍यक्तियों में कोल्‍ड और फ्लू के लक्षण हों उनसे दूरी बनाकर रखें.

अंडे और मांस के सेवन से बचें. जंगली जानवरों के संपर्क में आने से बचें आदि |

ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे !