Water, Earth and Forest

जल, जंगल और जमीन है जब तक | इस प्रथ्वी पर हमारा अस्तित्व है तब तक||

जल, जंगल और जमीन जो हमारे अस्तित्व को बचाए हुए है, लेकिन अब ऐसा लगता है कुछ ही दिनों में हम ये सब खो देंगे, कहते है | हम भोजन के बिना एक माह से अधिक जीवित रह सकते हो, परन्तु जल के बिना तो एक सप्ताह से अधिक जीवित नहीं रह सकते ।

जल हमारे जीवन का बहुत ही मुल्व्यवान तत्व है, जिसके बिना जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती, जल प्रथ्वी पर और मनुष्य के शरीर में भी लगभग 70% है | जिससे हम सोच बैठते है की हमारी प्रथ्वी पर बहुत पानी है, लेकिन इससे ये तो पता नहीं चलता है की यहाँ सब पीने योग्य है | पृथ्वी पर उपलब्ध कुल पानी में से मीठा जल लगभग 2.7% प्रतिशत है । और इसमें से भी लगभग 75.2 प्रतिशत धुव्रीय प्रदेशों में हिम के रूप में विद्यमान है और 22.6% प्रतिशत भूजल के रूप में विद्यमान है।  शेष जल झीलों, नदियों, वायुमंडल, नमी, मृदा और वनस्पति में मौजूद है। उपयोग और अन्य इस्तेमाल के लिए प्रभावी रूप से उपलब्ध जल की मात्रा बहुत थोडी है जो नदियों, झीलों और भूजल के रूप में उपलब्ध है।

जल अति सोचनीय विषय है, और यू कहे तो यह विषय न होकर हमारा जीवन ही है| लेकिन हम बस इसके बारे में कुछ शब्द पढेंगे या लिखेंगे और अपनी रोजमर्रा की भागदौड की जिन्दगी में भूल जायेंगे, की इसको बचाना भी है| आज अगर हम घर में या कही घुमने भी जाए तो पीने के लिए पानी भी मिनरल वाला चाहिए, लेकिन क्या हम ये सोचते है कि आज धरती पर पीने योग्य पानी की उपलब्धता के कारण ही हम पानी पी पाते है, और अगर कल यह नही होगा तो क्या ?

समाधान :- हम चाहे तो क्या नही कर सकते, बस चाहिये तो कुछ करने का जज्बा, और ये शुरुआत सिर्फ हम ही कर सकते है | पानी को जितना हो बचा सके उतना बचाया जा सकता है |क्यूंकि बचाव की प्रक्रिया सिर्फ हम से ही शुरू हो सकती है |

  1. प्रतिदिन जितना हो सके पानी बचाए |
  2. नहाने फुवारे के बजाय मग और बाल्टी का प्रयोग किया जा सकता है | या फुवारा प्रेस बटन वाला हो |
  3. हाथ धोने के लिए प्रयोग किया जाने वाला पानी फ्लश बॉक्स से जोड़ा जा सकता है क्यूंकि टॉयलेट में साफ़ पानी के क्या जरूरत | और यदि हो सके तो रसोईघर के सिंक के निकासी पाईप को सीधे फ्लश बॉक्स से जोड़ा जा सकता है | जिससे बर्तन धोने में सर्फ़ मिश्रित पानी सीधे टॉयलेट में प्रयोग किया जा सकता है |
  4. सब्जियों को धोने में प्रयोग किया गया पानी पेड़-पौधो में भी प्रयोग किया जा सकता है |

AC से बर्बाद होता पानी जिसे पार्क या बगीचों में पेड़ पौधो के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है |

उदाहरणार्थ : 1 AC average may produce water in 1 Day= 24 Ltr

  1. अब अगर हम ये देखें कि 1 साल में एक ऐ.सी. कितना पानी निकालता है तो 365 days X 24 Ltr = 8760 Ltr, ये तो एक ऐ.सी. द्वारा बर्बाद किया गया पानी है |
  2. अब हम उस रहने के क्षेत्र को लेते है जहां बहुत सारे परिवार रहते हो , जैसे रेजिडेंशियल कोम्प्लेक्स जिसमे 10 से 15 बहुमंजिला इमारत होती है | एक इमारत की एक मंजिल पर लगभग 4 फ्लेट्स होते है, जिसमे 4 ऐ.सी तो लगे होते है अगर 10 मंजिला इमारत में देखे तो 40 फ्लेट्स होते है |
  3. अब अगर देखे तो 40 Flats = 40 A.C

    01 A.C produce water in 1 day = 24 Ltr

    40 A.C produce water in 1 day = 960 Ltr

    01 A.C produce water in 6 months = 4320 Ltr

    40 A.C produce water in 6 day = 172800 Ltr

    अब हम अंदाजा लगा सकते है कि पूरे देश में कितने ऐसी ऐसे होंगे , जिनसे बहुत सा पानी बर्बाद होता होगा |

यदि सही तरीके का इस्तमाल किया जाए तो कितना पानी बचाया जा सकता है |

आप अपने विचारों को हमारे साथ साझा कर सकते है | admin@dobaat.com

#save water # water #save earth #earth #forest

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *